विटामिन 'बी'

विटामिन बी से क्या क्या होता है, कमी से कौनसा रोग,विटामिन बी कितने प्रकार के होते हैं?

इस विटामिन में कई तत्त्व सम्मिलित हैं। इनकी समष्टि को विटामिन ‘बी’ सम्मिश्रण (बी कॉम्पलेक्स) कहते हैं। इस संभाग में विटामिन बी-1, बी-2, बी-3, बी-4, बी-6 और बी 12 शामिल हैं।

विटामिन बी-1 (थायमिन हाइड्रोक्लोराइड ):

इसे बेरी-बेरी अवरोधक विटामिन भी कहते हैं।कार्बोज वर्ग के पदार्थों के पूर्ण आत्मीकरण के लिए इस विटामिन की उपस्थिति नितांत आवश्यक है।
इसकी कमी से शरीर के पूर्ण विकास में बाधा पड़ती है। भूख में कमी, कब्ज, अफारा, दस्त, सिर में दर्द, हाथ-पांव में दर्द, कानों में भनभनाहट, आंखों के सामने अंधेरा छा जाना, चक्कर आना, स्मरणशक्ति की कमी, चिंता आदि के लक्षण उत्पन्न होते हैं।

विटामिन बी-2 (राइबोफ्लैविन):

यह विटामिन साधारण ताप में क्षतिग्रस्त नहीं होता। यह शरीर में वायु की मात्रा को संतुलित रखता है, शरीर को चर्म रोगों से बचाता है, युवावस्था की रक्षा करता है तथा हृदय, जिगर, पाचन ग्रंथियों, मांसपेशियों और गुर्दों को शक्ति प्रदान करता है। इसकी कमी से आंखों के कोर्निया के चारों ओर लाली पैदा हो जाती है, पानी बहने लगता है व होंठ फट जाते हैं।

विटामिन बी 6 ( पाइरिडॉक्सीन ):

यह विटामिन त्वचा के रोगों से रक्षा करता है। प्रोटीन और फैटी एसिड के पक्वीकरण में सहायता करता है। इसकी कमी से शारीरिक कमजोरी, जिह्वा शोथ, नींद कम आना, भूख न लगना, चलने-फिरने में कष्ट होना, पेशाब अधिक आना, मूत्राशय या गुर्दे में पथरी बनने की आशंका रहती है।

विटामिन बी-12 (कोबालमिन):

यह विटामिन रक्ताल्पता के निराकरण तथा उपचार के लिए अत्यंत लाभकारी है। यह रक्त कणों के निर्माण और उनकी परिपक्वता के साथ कार्बोज के पक्वीकरण में महत्त्वपूर्ण योग प्रदान करता है।

प्राप्ति के साधन:

चावल की भूसी, चोकर, दालों के छिलके, हरी सब्जियों के छिलके, गाजर के छिलके, सोयाबीन, अंकुरित अनाज, पनीर, मूंगफली आदि में पाए जाते हैं।

फोलिक एसिड:

इसे फोलीसिन भी कहते हैं। यह रक्त कणों के निर्माण में सहायक हैं। इसे ‘एम’ विटामिन भी कहते हैं। रक्त कणों के विकास परिपक्वीकरण के लिए इसकी उपस्थिति आवश्यक है।

प्राप्ति के साधन :

अंकुरित अनाज, पालक, प्याज, गाजर, आलू, संतरा, दूध, पनीर आदि।

2 Comments

Brian Kuse · October 5, 2021 at 7:57 PM

A deficiency of the e vitamin does not affect a person immediately.
Actually, it can take months for the effects of insufficient
e vitamin to be detected.

my web page – Brian Kuse

Leave a Reply to Brian Kuse Cancel reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published.