उच्च रक्तचाप (High Blood Pressure)

उच्च रक्तचाप (High Blood Pressure) का इलाज

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए दिल का स्वस्थ होना बहुत जरूरी है। लेकिन वर्तमान में अनियमित खान-पान व अनियमित दिनचर्या के कारण उच्च रक्तचाप और निम्न रक्तचाप की समस्या बढ़ रही है। सामान्यतः ब्लड प्रेशर 120/8O होता है। किसी के शरीर में रक्त प्रवाह सामान्य से कम (80 से कम) ,हो जाता है तो उसे Low Blood Pressure कहते है और अगर यह रक्त प्रवाह 130 से बढ़ जाता है तो इसे High Blood Pressure कहते हैं।

उच्च रक्तचाप (High Blood Pressure) की स्थिति में धमनियों में रक्त का दबाव बढ़ने से रक्त प्रवाह बढ़ जाता है, इसे सामान्य लाने के लिए दिल को सामान्य से अधिक काम करने की आवश्यकता पड़ती है। इसलिए दिल की धड़कन बढ़ जाती है जिसके कारण उल्टी, सिर दर्द व चिड़चिड़ापन शुरू हो जाता है। कुछ लोग इसे नज़रअंदाज करते रहते हैं तो कई डॉक्टरों के चक्कर लगाते रहते हैं। हम कुछ घरेलू उपाय अपनाकर इस पर काफी सीमा तक कंट्रोल कर सकते हैं।

लहसुन:

लहसुन आपके शरीर में कॉलेस्ट्रॉल का स्तरका करता है, इससे आपका दिल हमेशा सेहतमंद रहता है।

नमक का सेवन कम करें:

नमक का अधिक सेवन करने से उच्च रक्तचाप का खतरा बढ़ जाता है। रक्तचाप कम करने के लिए अपने भोजन में नमक की मात्रा कम करनी चाहिए। डॉक्टरों का मानना है कि नमक में मौजूद सोडियम की अधिक मात्रा उच्च रक्तचाप का कारण होती है।

आलू का सेवन:

आहार में पोटेशियम युक्त फलों व सब्जियों को शामिल करने से आप रक्तचाप कम कर सकते हैं। पोटेशियम की कुछ नियमित मात्रा के सेवन से आप स्वयं को उच्च रक्तचाप से दूर रख सकते हैं। के आलू के साथ-साथ शकरकंदी, टमाटर, संतरे का रस, केला, राजमा, नाशपाती, किशमिश, सूखे मेवे और तरबूज आदि में पोटेशियम काफी मात्रा में होता है।

संगीत:

संगीत आपके रक्तचाप को कम करने में मदद करता है। यदि आप धीमी आवाज में मधुर संगीत सुनें तो आपको उच्च रक्तचाप में आराम मिलता है। रुहानी भजन जहाँ आपको शारीरिक स्फूर्ति प्रदान करेंगे, वहीं आपकी आत्मा को भी ताज़गी प्रदान करेंगे।

आराम है जरूरी:

बेशक जीवन में कामयाबी के लिए काम करना जरूरी है लेकिन आराम की अहमियत को नजरअंदाज़ नहीं करना चाहिए। दिन-रात पैसे बनाने की मशीन की तरह लगे रहना आपके स्वास्थ्य के लिए बेहद हानिकारक हो सकता है। कम से कम 5-8 घंटे की नींद अवश्य लें।

खान-पान:

अपने आहार में दूध, दही, हरी सब्जियाँ, सेब, सलाद को अवश्य शामिल करना चाहिए।

ब्लैक टी:

ब्लैक टी का सेवन भी लाभदायक होता है।

ब्लैक टी बनाने की विधि:

एक कप में आधा चम्मच चाय पत्ती डाले। अब गैस पर पानी उबालें और कप में चाय पत्ती के ऊपर यह पानी डाल दें। दो मिनट तक ढक के रखें। इसमें दूध का प्रयोग ना करें।